Parthvimeda Logo
  • RSS
  • Facebook
  • Twitter
  • Linkedin

Parthvimeda Products

संत वाणी में कहा गया है की यदि सोने के सिक्के देकर भी मिले तो गाय का दूध पियो | उदाहरण:- धर्मराज युधिष्टर से जब यक्ष ने प्रश्न किया था की पृथ्वी पर अमृत क्या है? तब धर्मराज युधिष्टर ने कहा की गोमाता का दूध ही पृथ्वी पर अमृत है |

Post Image 1

गो क्लीन

गो मूत्र से तैयार किया हुआ | स्टाक लिमिटेड प्लीज बुक अर्जेंट


 

More
Post Image 1

पथमेड़ा गेहू

बिना रासायनिक खाद से तैयार किया हुआ | स्टाक लिमिटेड प्लीज बुक अर्जेंट


 

More
Post Image 1

देशी चना

बिना रासायनिक खाद से तैयार किया हुआ | स्टाक लिमिटेड प्लीज बुक अर्जेंट


 

More
Post Image 1

जीरा

बिना रासायनिक खाद से तैयार किया हुआ | स्टाक लिमिटेड प्लीज बुक अर्जेंट


 

More
Post Image 1

एलोवेरा जेल

सेल रिन्यूअल प्रोसेस को बढाता है, इसमें हीलिंग प्रॉपर्टी भी होती है एलोवेरा में एंटी-ऑक्सिडेंट प्रॉपर्टीज पायी जाती है. यह सेल रिन्यूअल प्रोसेस को भी बढाता है. इसका हिंदी नाम ग्वारपाठा है जबकि घकिंवर या घृतकुमारी इसका संस्कृत नाम है.

 

More
Post Image 2

चोकलेट १

गाय का दूध स्वादिष्ठ, रुचिकर, स्निग्ध, बलकारक, अतिपथ्य, क्रांतिप्रद, बुद्धि, प्रज्ञा, मेधा कफ, तुष्टि, पुष्टि वीर्य और ओज को बढ़ाने वाला, आयु को दृढ़ करने वाला, हृदय, रसायन, गुरु, पुरुषत्व प्रदान करने वाला होता है | यह गौ माता के दूध से निर्मित है

More
Post Image 2

चोकलेट २

गाय का दूध स्वादिष्ठ, रुचिकर, स्निग्ध, बलकारक, अतिपथ्य, क्रांतिप्रद, बुद्धि, प्रज्ञा, मेधा कफ, तुष्टि, पुष्टि वीर्य और ओज को बढ़ाने वाला, आयु को दृढ़ करने वाला, हृदय, रसायन, गुरु, पुरुषत्व प्रदान करने वाला होता है | यह गौ माता के दूध से निर्मित है

More
Post Image 2

गौ मूत्र अर्क

यह सर्व रोगनाशक हैं। यह खून में बढे कोलेस्ट्रोल को कम करता हैं व मोटापा घटाता है।

 

 

More
Post Image 2

घी

आयुवर्द्धक, बुद्धिवर्धक, शुक्रवर्धक, रस और पाक में स्वादिष्ट, जठराग्नि को प्रदीप्त करने वाला, स्निग्ध, सुगन्धित, रुचिकर, नेत्रों की ज्योति बढ़ाने वाला, कान्तिकारक, वृष्य और मेघा, लावण्य, स्वरकारक, हृदय, तेज और बल देने वाला होता है |

 

ore

Post Image 2

गौमूत्र आसव

एलर्जी,श्वास,दम में उपयोगी।

 

 

 

More
Post Image 2

गोपाल चूर्ण

पेट में गैस,आफरा,कबजियात,अम्लपित,पेट के कृमि,यकृत,प्लिहावृद्धि तथा अर्श इत्यादि में लाभदायक है।.

 

 

More
Post Image 2

गोतीर्थ

श्वास,दम,खांसी,जुकाम,निमोनियामें लाभदायक है।

 

 

 

More
Post Image 2

हैण्डवाश

 पंचगव्य को माध्यम बनाकर औषधियो पौधों से निर्मित दवाईयां न केवल रोग को दुर करती है। बल्कि इनका कोई भी अन्य दुष्प्रभाव शरीर पर नही होता है। दुसरी तरफ अन्य आधुनिक चिकित्सा पद्धतियां जिसमें दवाईयां केमिकल्स से बनती है। 

 

More

Post Image 2

जेली

इसका सेवन श्वास,शारीरिक दुर्बलता आदि को दूरकर शरीर में स्फुर्ति, लाता है।

 

 

 

More
Post Image 2

कामधेनु सेम्पू

सिर के बाल व चर्म रोग के लिए उपयोगी।

 

 

 

More
Post Image 2

कंडा

सूर्यादय एवं शाम के समय प्रदूषित वातावरण को शुद्ध करने हेतू गौ के गोबर कन्डो में देशी गाय का घी एवंम थोडा सा अक्षत (चावल) रखकर देशी कपूर के साथ अवश्य अगनिहोत्र करे

 

More
Post Image 2

कामधेनु मकोय अर्क

वृकक सम्बन्धित रोग जैसे मूत्र,मुत्राधात गुर्दे का दर्द,गुर्दे की सुजन,गुर्दे का सिकोडना पथरी आदि।

 

 

More
Post Image 2

मिल्क पाउडर 200gms

गाय का दूध स्वादिष्ठ, रुचिकर, स्निग्ध, बलकारक, अतिपथ्य, क्रांतिप्रद, बुद्धि, प्रज्ञा, मेधा कफ, तुष्टि, पुष्टि वीर्य और ओज को बढ़ाने वाला, आयु को दृढ़ करने वाला, हृदय, रसायन, गुरु, पुरुषत्व प्रदान करने वाला होता है | जहा दूध शब्द का प्रयोग होता है वहा उसे गाय का ही दूध मानना चहिये | गाय का दूध संतुलित रूप से शरीर का विकास भी करता है,

More
Post Image 2

मिल्क पाउडर 500gms

गाय का दूध स्वादिष्ठ, रुचिकर, स्निग्ध, बलकारक, अतिपथ्य, क्रांतिप्रद, बुद्धि, प्रज्ञा, मेधा कफ, तुष्टि, पुष्टि वीर्य और ओज को बढ़ाने वाला, आयु को दृढ़ करने वाला, हृदय, रसायन, गुरु, पुरुषत्व प्रदान करने वाला होता है | जहा दूध शब्द का प्रयोग होता है वहा उसे गाय का ही दूध मानना चहिये | गाय का दूध संतुलित रूप से शरीर का विकास भी करता है,

More
Post Image 2

नारी संजीवनी

स्त्री रोग जैंसे रक्त प्रदर, स्वेत प्रदर मासिक धर्म के समय कष्ट होना,पूडू का दर्द तथा कमरदर्द में लाभकारी हैं।

 

 

More
Post Image 2

पंचगव्य धृत

मिर्गी,पागलपन,दिमाग की कमजोरी, अनिन्द्र,क्रोध नेत्रों के राग,सिर दर्द आदि में लाभकारी तथा शक्तिवर्धक है।।

 

 

More
Post Image 2

टूथ पेस्ट

दांतो का दर्द,दांतो में कीडे लगना,मसूडों का फूलना,मसूडों में मवाद या रक्त आना,पायरिया तथा मुख के छाले इत्यादि रोग ठीक होते हैं।

 

 

More
Post Image 2

पथमेड़ा शेम्पु

सिर के बाल व चर्म रोग के लिए उपयोगी।

 

 

 

More
Post Image 2

प्रेमहारी

यह पुरूषों के धातु सम्बन्धित रोग,स्वप्नदोष,पेशाब में धातु आना,शीघ्रपतन में लाभदायक तथा शक्तिवर्धक टानिक है।

 

 

More
Post Image 2

रसगुल्ला

देशी गाय के शुद्ध दूध से निर्मित

 

 

More

Recent Post